Monday, 16 January 2017

ऐसे कैसे होगा गांवों का विकास

--अभी तक 301 में से महज 15 पंचायतों की जीपीडीपी हुई तैयार

--बिना जीपीडीपी के पंचायतों को नहीं मिल पाएगी विकास के लिए ग्रांट

--छह माह पहले दिए थे जीपीडीपी बनाने के आदेश

नरेंद्र कुंडू
जींद।
गांवों के विकास का खाका तैयार करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई ग्राम पंचायत विकास योजना (जीपीडीपी) में पंचायत अधिकारी व ग्राम सचिव रूची नहीं दिखा रहे हैं। जीपीडीपी योजना के शुरू होने के छह माह बाद भी अभी तक जिले के 301 ग्राम पंचायतों में से महज 15 ग्राम पंचायतों की ही जीपीडीपी तैयार हो पाई है। ग्राम पंचायजों की जीपीडीपी तैयार नहीं होने के कारण गांव के विकास कार्यों पर ब्रेक लग गए हैं।  

यह है जीपीडीपी योजना 

ग्राम पंचायतों द्वारा पहले बिना प्लानिंग के ही विकास कार्य करवाए जाते थे। गांव के विकास के लिए किसी तरह की कोई प्लानिंग नहीं होती थी। केवल ग्राम सभा में ही गांव के विकास कार्यों पर चर्चा की जाती थी। पंचायत के पास विकास कार्यों की प्लानिंग नहीं होने के कारण कई बार सबसे जरूरी कार्य नहीं हो पाते थे। इस समस्या को दूर करने तथा गांवों का विकास करवाने के लिए केंद्र सरकार द्वारा गत वर्ष मई माह में ग्राम पंचायत विकास योजना (जीपीडीपी) शुरू की गई थी। इस योजना के तहत ग्राम पंचायत द्वारा गांव में एक वर्ष में होने वाले विकास कार्यों की रूपरेखा तैयार की जानी थी। ताकि सबसे ज्यादा जरूरी कार्यों को प्राथमिकता के आधारा पर पूरा करवाया जा सके। ग्राम पंचायत द्वारा तैयार की गई विकास कार्यों की लिस्ट के आधार पर ही सरकार द्वारा गांव के विकास के लिए ग्रांट जारी की जानी है। ग्राम पंचायत द्वारा तैयार की गई विकास कार्यों की लिस्ट के आधार पर ग्राम सचिव द्वारा गांव के विकास की जीपीडीपी तैयार कर विभाग की वेबसाइट पर अपलोड की जानी है। इसी जीपीडीपी के आधार पर गांव के विकास के लिए ग्रांट जारी होगी और यह ग्रांट केवल इसी कार्य पर खर्च हो सकेगी। 

 विकास कार्यों की रूपरेखा तैयार की जानी है।

ग्राम पंचायत तथा ग्राम सचिव द्वारा जीपीडीपी के तहत गांव में एक वर्ष में होने वाले विकास कार्यों की रूपरेखा तैयार की जानी है। जीपीडीपी में तैयार की गई प्लानिंग के आधार पर गांव में जो सबसे जरूरी कार्य होते हैं पहले उन विकास कार्यों के लिए सरकार द्वारा ग्रांट जारी की जानी है। ताकि गांव के जरूरी कार्यों को प्राथमिकता के आधार पर पूरा करवाया जा सके। अभी तक जिले की 15 पंचायतों की जीपीडीपी तैयार हुई है। सभी पंचायत अधिकारियों व ग्राम सचिवों को जल्द से जल्द जीपीडीपी तैयार करने के आदेश दिए गए हैं। जल्द ही सभी की जीपीडीपी तैयार करवाकर वेबसाइट पर डलवा दी जाएगी।

वेबसाइड पर डाली गई गांव के विकास के लिए तैयार की गई जीपीडीपी।
शंकर गोयल, जिला पंचायत एवं विकास अधिकारी
जींद

पीने के पानी की समस्या के समाधान के तैयार किया था प्रस्ताव

गांव में पीने के पानी की गंभीर समस्या है। पीने के पानी की समस्या के समाधान के लिए पंचायत ने गांव में पेयजल सप्लाई शुरू करवाने के लिए पाइप लाइन दबवाने के लिए प्रस्ताव तैयार कर बीडीपीओ के पास भेजा था लेकिन अभी तक उनके प्रस्ताव पर कोई अमल नहीं हुआ है। 
शीशपाल सरपंच,
ग्राम पंचायत कुचराना कलां

 गंदे नालों का नहीं हो पाया निर्माण

गांव में गंदे पानी की निकासी की समस्या गंभीर है। गलियों में गंदा पानी भरा रहने के कारण गलियों में कीचड़ पनप रहा है। गंदे पानी की निकासी के लिए गंदे नालों के निर्माण के लिए ग्राम पंचायत ने प्रस्ताव तैयार कर प्रशासन को भेजा था लेकिन अभी तक उनके प्रस्ताव पर कोई अमल नहीं हुआ है और न ही प्रशासन की तरफ से नालों के निर्माण के लिए कोई ग्रांट आई है।
राजकुमार, सरपंच
ग्राम पंचायत बिघाना

अलेवा व उचाना फिसड्डी, जुलाना व पिल्लूखेड़ा से एक-एक ही पंचायत की हुई जीपीडीपी तैयार

गांवों के विकास कार्यों के लिए केंद्र सरकार द्वारा लागू की गई जीपीडीपी को तैयार करने के लिए अलेवा व उचाना सबसे फिसड्डी हैं। अभी तक अलेवा व उचाना से एक भी ग्राम पंचायत की जीपीडीपी तैयार नहीं हो पाई है। पिल्लूखेड़ा तथा जुलाना से केवल एक-एक ही ग्राम पंचायत की जीपीडीपी तैयार हुई है। जीपीडीपी तैयार करने में नरवाना ब्लॉक सबसे आगे है। 15 में से अकेली 11 जीपीडीपी नरवाना ब्लॉक की तैयार हुई हैं।
बॉक्स
अभी तक इन-इन गांवों की हुई है जीपीडीपी तैयार
ब्लॉक का नाम        पंचायत का नाम
जुलाना                खरेंटी
जुलाना                रामकली
नरवाना                बरटा
नरवाना                धाबीटेक सिंह
नरवाना                धनौरी
नरवाना                डिंडोली
नरवाना                फरैन कलां
नरवाना                हमीरगढ़
नरवाना                कान्हाखेड़ा
नरवाना                कर्मगढ़
नरवाना                नारायणगढ़
नरवाना                नेहरा
नरवाना                रेवर
पिल्लूखेड़ा                आलनजोगीखेड़ा
सफीदों                खेड़ाखेमावती

No comments:

Post a Comment